en English
en English

Private Hospitals To Be Allotted Covid Vaccines Doses Based On Location & Demand – नियम: निजी अस्पतालों को जगह-मांग के आधार पर ही मिलेगी वैक्सीन, नहीं चलेगा कोटे वाला हिसाब


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: प्रशांत कुमार
Updated Sat, 12 Jun 2021 09:48 AM IST

सार

भारत सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण नीति में एक बार फिर बदलाव किया है। टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए सरकार ने वैक्सीन वितरण प्रक्रिया को लचीला बनाया है। अब निजी अस्पतालों को आबादी और मांग के हिसाब से कोविड वैक्सीन की खुराक दी जाएगी। 

भारत में कोरोना टीकाकरण
– फोटो : पीटीआई

ख़बर सुनें

भारत सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण नीति को पहले से भी आसान किया है। सरकार ने टीकाकरण अभियान को रफ्तार देने के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन देने का फैसला किया है। इसी कड़ी में निजी अस्पतालों को जगह और मांग के आधार पर वैक्सीन की खुराक उपलब्ध कराई जाएगी। टीकाकरण अभियान में व्यापक भागीदारी और वितरण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से तैयार किए गए नियमों के आधार पर अलग-अलग अस्पतालों में वितरित किया जाएगा।

केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राज्यों को टीकों का कुल  25% हिस्सा मिलता है।  हालांकि अब निजी अस्पतालों के आसपास रहने वाली आबादी के हिसाब से उन्हें वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। बता दें कि  18 से 44 साल की आयु वाले लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए पहले राज्यों को खुले बाजार से वैक्सीन लेनी पड़ती थी, लेकिन नई गाइडलाइंस के मुताबिक,  राज्य सरकारों को कोई खरीद नहीं करनी होगी। वे सिर्फ केंद्र से मिली वैक्सीन को लगाएंगे। इस नियम में निजी अस्पतालों को केंद्र से  25% डोज के अलावा वैक्सीन निर्माताओं से सीधे खरीदने की भी छूट मिली है।

आबादी को ध्यान में रखकर देनी होगी वैक्सीन की खुराक
नई गाइडलाइंस के मुताबिक, राज्यों को “बड़े और छोटे निजी अस्पतालों के आसपास आबादी को ध्यान में रखकर वैक्सीन उपलब्ध कराना है। नए नियमों में साफ तौर से कहा गया है कि केंद्र कुल मांग के आधार पर, निजी अस्पतालों को टीकों की आपूर्ति और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म के माध्यम से भुगतान की सुविधा प्रदान करेगा। 

21 जून से 18 प्लस लोगों को मिलेगी वैक्सीन
गौरतलब है कि पिछले दिनों राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने मुफ्त टीकाकरण का एलान किया था। उन्होंने कहा कि 21 जून से 18 साल से ज्यादा उम्र वाले हर व्यक्ति को सरकार मुफ्त में टीका लगाएगी। हालांकि निजी अस्पतालों में वैक्सीन के लिए पहले की तरह कीमत चुकानी होगी।

सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए तय किए दाम
सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए वैक्सीन की कीमत तय कर दी है। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगाई जाएगी। वहीं निजी अस्पतालों में टीका लगवाने के लिए पैसे देने होंगे। हालांकि निजी अस्पताल अनाप-शनाप  दाम नहीं वसूल सकेंगे। केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए कोविशील्ड के दाम 780 रुपये तय किए हैं, कोवैक्सिन की कीमत 1,410 रुपये और स्पुतनिक वी के लिए 1,145 रुपये की कीमत तय की गई है। 

विस्तार

भारत सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण नीति को पहले से भी आसान किया है। सरकार ने टीकाकरण अभियान को रफ्तार देने के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन देने का फैसला किया है। इसी कड़ी में निजी अस्पतालों को जगह और मांग के आधार पर वैक्सीन की खुराक उपलब्ध कराई जाएगी। टीकाकरण अभियान में व्यापक भागीदारी और वितरण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से तैयार किए गए नियमों के आधार पर अलग-अलग अस्पतालों में वितरित किया जाएगा।

केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राज्यों को टीकों का कुल  25% हिस्सा मिलता है।  हालांकि अब निजी अस्पतालों के आसपास रहने वाली आबादी के हिसाब से उन्हें वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। बता दें कि  18 से 44 साल की आयु वाले लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए पहले राज्यों को खुले बाजार से वैक्सीन लेनी पड़ती थी, लेकिन नई गाइडलाइंस के मुताबिक,  राज्य सरकारों को कोई खरीद नहीं करनी होगी। वे सिर्फ केंद्र से मिली वैक्सीन को लगाएंगे। इस नियम में निजी अस्पतालों को केंद्र से  25% डोज के अलावा वैक्सीन निर्माताओं से सीधे खरीदने की भी छूट मिली है।

आबादी को ध्यान में रखकर देनी होगी वैक्सीन की खुराक

नई गाइडलाइंस के मुताबिक, राज्यों को “बड़े और छोटे निजी अस्पतालों के आसपास आबादी को ध्यान में रखकर वैक्सीन उपलब्ध कराना है। नए नियमों में साफ तौर से कहा गया है कि केंद्र कुल मांग के आधार पर, निजी अस्पतालों को टीकों की आपूर्ति और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म के माध्यम से भुगतान की सुविधा प्रदान करेगा। 

21 जून से 18 प्लस लोगों को मिलेगी वैक्सीन

गौरतलब है कि पिछले दिनों राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने मुफ्त टीकाकरण का एलान किया था। उन्होंने कहा कि 21 जून से 18 साल से ज्यादा उम्र वाले हर व्यक्ति को सरकार मुफ्त में टीका लगाएगी। हालांकि निजी अस्पतालों में वैक्सीन के लिए पहले की तरह कीमत चुकानी होगी।

सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए तय किए दाम

सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए वैक्सीन की कीमत तय कर दी है। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगाई जाएगी। वहीं निजी अस्पतालों में टीका लगवाने के लिए पैसे देने होंगे। हालांकि निजी अस्पताल अनाप-शनाप  दाम नहीं वसूल सकेंगे। केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए कोविशील्ड के दाम 780 रुपये तय किए हैं, कोवैक्सिन की कीमत 1,410 रुपये और स्पुतनिक वी के लिए 1,145 रुपये की कीमत तय की गई है। 



Source link

हमें खबर को बेहतर बनाने में सहायता करें

खबर में कोई नई नॉलेज मिली?
क्या आप इसको शेयर करना चाहेंगे?
जानकारी, भाषा, हेडिंग अच्छी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
33,594,803
Recovered
0
Deaths
446,368
Last updated: 8 minutes ago

Vistors

6687
Total Visit : 6687