en English
en English

Tokyo Olympics Indian Rising Athletes Who Can Win Gold In Olympics 2024 – टोक्यो ओलंपिक: भारत को मिले सात पदक, लेकिन बिना मेडल लाए इन खिलाड़ियों ने जीत लिए करोड़ों दिल


स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, टोक्यो।
Published by: अभिषेक दीक्षित
Updated Sat, 07 Aug 2021 10:12 PM IST

सार

टोक्यो ओलंपिक में भारत के सफल अभियान का समापन स्वर्णिम रहा। नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में सोना जीतकर देश का नाम रोशन किया। इस बार खास बात यह रही कि कई खिलाड़ी मामूली अंतर से पदक जीतने से चूक गए। हालांकि, उन्होंने अपने खेल से सभी को प्रभावित किया। 

अदिति अशोक

अदिति अशोक
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

विस्तार

जापान की राजधानी टोक्यो में चल रहे खेलों के महाकुंभ में भारतीय दल ने शानदार प्रदर्शन किया। भारत ने इस बार ओलंपिक में एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य समेत कुल सात पदक जीते। कई ऐसे भी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने पदक तो नहीं जीता, लेकिन अपने खेल से लोगों के दिलों पर गहरी छाप छोड़ गए। इन खिलाड़ियों से उम्मीद होगी कि वे आने वाले स्पर्धाओं में भारत का नाम जरूर रोशन करेंगे। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों के बारे में… 

1. महिला हॉकी टीम

भारतीय महिला हॉकी टीम का टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने का सपना अधूरा रह गया। भारतीय टीम कांस्य पदक के मुकाबले में ब्रिटेन के हाथों 4-3 से हार गई थी। इसके साथ ही टीम ओलंपिक में पहली बार पदक जीतने से चूक गई, हालांकि हार के बावजूद भारतीय टीम इतिहास रचने में सफल रही और पहली बार चौथे स्थान पर रही। अब आने वाले टूर्नामेंट में भी इस टीम पर नजर रहेगी।

2. दीपक पुनिया

भारत के युवा पहलवान दीपक पुनिया ने कुश्ती के 86 किग्रा भारवर्ग के सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई। 22 वर्षीय पहलवान ने शानदार शुरुआत करते हुए प्री क्वार्टरफाइनल में नाइजीरियाई पहलवान एकरेकेम एगियोमोर को 12-1 से हराया। पहला मुकाबला आसानी से जीतने के बाद दीपक ने क्वार्टरफाइनल में भी जबरदस्त प्रदर्शन किया। दीपक ने क्वार्टरफाइनल में चीनी पहलवान जुशेन लिन को 6-3 से पटखनी दी। दीपक को सेमीफाइनल और कांस्य के मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा, लेकिन उनके लड़ने के जज्बे ने सभी का दिल जीता। 

3. अदिति अशोक

भारत की स्टार और युवा गोल्फर अदिति अशोक अपने पहले ओलंपिक पदक से एक स्थान से चूक गईं। वर्ल्ड रैंकिंग में 200वें नंबर की इस खिलाड़ी ने अपने दूसरे ही ओलंपिक में चौथा स्थान हासिल किया। 23 वर्षीय अदिति ने चार दिन तक चले चार राउंड के खेल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी नेली कोरडा को कड़ी टक्कर दी। तीन दिनों तक वह कई बार दूसरे और तीसरे स्थान पर भी रहीं। एक वक्त स्वर्ण के मुहाने पर खड़ी अदिति आखिरी दिन बहुत करीब से अपने प्रतिद्वंदी से पिछड़ गईं। उन्होंने पदक तो नहीं जीता, लेकिन लोगों के दिल और दिमाग पर असर जरूर छोड़ा।

4. प्रियंका गोस्वामी

प्रियंका गोस्वामी ने ओलंपिक के 20 किलोमीटर पैदल चाल मुकाबले में हिस्सा लिया। वह 10 किलोमीटर रेस में टॉप-10 में बनी हुई थीं, लेकिन आखिरी में वे 17वें नंबर पर रहीं। मुकाबले के दौरान पैनल्टी की वजह से पदक से चूक गईं। उनसे पदक की पूरी उम्मीद थी, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। अब देशवासियों को उम्मीद होगी कि वे अगले ओलंपिक में देश के लिए पदक जरूर जीतेंगी।



Source link

हमें खबर को बेहतर बनाने में सहायता करें

खबर में कोई नई नॉलेज मिली?
क्या आप इसको शेयर करना चाहेंगे?
जानकारी, भाषा, हेडिंग अच्छी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
33,678,786
Recovered
0
Deaths
447,194
Last updated: 6 minutes ago

Vistors

6784
Total Visit : 6784