en English
en English

Three Teachers Beat 40 Students In Fatehabad Of Haryana – हरियाणा: तीन शिक्षकों ने मुर्गा बना 40 छात्रों को पीटा, एक को मेडिकल कॉलेज किया गया रेफर, परिजनों में आक्रोश


सार

हरियाणा के फतेहाबाद जिले के टोहाना में तीन शिक्षकों ने 40 बच्चों की जमकर पिटाई कर दी। कई बच्चे जख्मी हैं। अधिक चोट की वजह से एक छात्र को डॉक्टरों ने अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। नाराज परिजनों ने घटना की शिकायत पुलिस से की है।

पीठ पर बने पिटाई के निशान।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

शिक्षक दिवस से अगले ही दिन सोमवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की 11वीं कक्षा के 40 विद्यार्थी तीन अध्यापकों के आक्रोश का शिकार हो गए। एक बच्चे की शरारत के कारण पूरी कक्षा के छात्रों को मुर्गा बनाकर डंडों से पीटा गया, अधिकांश छात्रों को चोटें आई हैं। एक छात्र लक्की की चोट ज्यादा होने के कारण चिकित्सक ने उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया है। परिजन देर शाम को उसे अग्रोहा लेकर गए। बाद में गुस्साए परिजनों ने शहर थाना पुलिस को भी शिकायत दी। मामला हरियाणा के फतेहाबाद का है। 

11वीं कक्षा के आर्ट्स विषय के छात्र परमजोत ने बताया कि सोमवार को वह कक्षा में बैठे थे। तभी एक बच्चे की शरारत के कारण दो शिक्षकों ने आकर कक्षा के सभी 40 छात्रों को मुर्गा बनाकर डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने विद्यार्थियों को अपना पक्ष रखने का मौका तक नहीं दिया। इसके बाद एक लेक्चरर जो उन्हें पढ़ाते भी नहीं है, वह भी आते ही गाली-गलौच करते हुए सभी छात्रों को फिर से पीटकर चले गए।

छात्र अरमान ने बताया कि तीनों शिक्षकों ने सभी छात्रों को चोटिल कर दिया। कई बच्चों को चोटें आई हैं। 10 बच्चों के परिजनों ने मेडिकल भी करवा दिया है। अधिकतर छात्रों की पीठ व बाजू पर चोट है। वहीं, जब यह बात स्कूल के बाकी कक्षाओं के छात्रों तक पहुंची तो छुट्टी के समय सभी छात्र स्कूल के गेट पर इकट्ठा हो गए और रोष जताने लगे। बाद में शिक्षकों ने उन्हें वहां से भेज दिया। शिक्षकों से लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों तक ने इस मामले को काफी दबाने का प्रयास किया।

मेडिकल करवाकर पुलिस को शिकायत दे दी है : रामचंद्र
छात्र परमजोत के पिता रामचंद्र ने कहा कि हम तो अपने बच्चों को पढ़ने भेजते हैं, इस तरीके से डंडों के साथ पूरी कक्षा को पीटने का क्या मतलब बनता है। अगर किसी एक बच्चे ने शरारत की है तो उसे डांट देते तो भी कोई बात नहीं थी। मैंने बेटे का मेडिकल करवाने के बाद शहर थाना पुलिस को शिकायत कर दी है। बच्चों को बुरी तरह से पीटने वाले शिक्षकों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

मेरे संज्ञान में यह मामला नहीं आया है। अगर ऐसा हुआ है तो इसकी जांच करवाई जाएगी। जांच में कोई दोषी मिलेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। – दयानंद सिहाग, डीईओ, फतेहाबाद।

इस विषय में मैं मंगलवार को ही कुछ कह पाऊंगा। अभी कुछ नहीं बता सकता। – मुकेश शर्मा, प्रिंसिपल।

स्कूल के तीन बच्चों की तरफ से लिखित शिकायत दी गई है। मामले की जांच की जा रही है। अभी कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। – सुरेंद्र कुमार, एसएचओ, टोहाना शहर थाना।

विस्तार

शिक्षक दिवस से अगले ही दिन सोमवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की 11वीं कक्षा के 40 विद्यार्थी तीन अध्यापकों के आक्रोश का शिकार हो गए। एक बच्चे की शरारत के कारण पूरी कक्षा के छात्रों को मुर्गा बनाकर डंडों से पीटा गया, अधिकांश छात्रों को चोटें आई हैं। एक छात्र लक्की की चोट ज्यादा होने के कारण चिकित्सक ने उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया है। परिजन देर शाम को उसे अग्रोहा लेकर गए। बाद में गुस्साए परिजनों ने शहर थाना पुलिस को भी शिकायत दी। मामला हरियाणा के फतेहाबाद का है। 

11वीं कक्षा के आर्ट्स विषय के छात्र परमजोत ने बताया कि सोमवार को वह कक्षा में बैठे थे। तभी एक बच्चे की शरारत के कारण दो शिक्षकों ने आकर कक्षा के सभी 40 छात्रों को मुर्गा बनाकर डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने विद्यार्थियों को अपना पक्ष रखने का मौका तक नहीं दिया। इसके बाद एक लेक्चरर जो उन्हें पढ़ाते भी नहीं है, वह भी आते ही गाली-गलौच करते हुए सभी छात्रों को फिर से पीटकर चले गए।

छात्र अरमान ने बताया कि तीनों शिक्षकों ने सभी छात्रों को चोटिल कर दिया। कई बच्चों को चोटें आई हैं। 10 बच्चों के परिजनों ने मेडिकल भी करवा दिया है। अधिकतर छात्रों की पीठ व बाजू पर चोट है। वहीं, जब यह बात स्कूल के बाकी कक्षाओं के छात्रों तक पहुंची तो छुट्टी के समय सभी छात्र स्कूल के गेट पर इकट्ठा हो गए और रोष जताने लगे। बाद में शिक्षकों ने उन्हें वहां से भेज दिया। शिक्षकों से लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों तक ने इस मामले को काफी दबाने का प्रयास किया।

मेडिकल करवाकर पुलिस को शिकायत दे दी है : रामचंद्र

छात्र परमजोत के पिता रामचंद्र ने कहा कि हम तो अपने बच्चों को पढ़ने भेजते हैं, इस तरीके से डंडों के साथ पूरी कक्षा को पीटने का क्या मतलब बनता है। अगर किसी एक बच्चे ने शरारत की है तो उसे डांट देते तो भी कोई बात नहीं थी। मैंने बेटे का मेडिकल करवाने के बाद शहर थाना पुलिस को शिकायत कर दी है। बच्चों को बुरी तरह से पीटने वाले शिक्षकों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

मेरे संज्ञान में यह मामला नहीं आया है। अगर ऐसा हुआ है तो इसकी जांच करवाई जाएगी। जांच में कोई दोषी मिलेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। – दयानंद सिहाग, डीईओ, फतेहाबाद।

इस विषय में मैं मंगलवार को ही कुछ कह पाऊंगा। अभी कुछ नहीं बता सकता। – मुकेश शर्मा, प्रिंसिपल।

स्कूल के तीन बच्चों की तरफ से लिखित शिकायत दी गई है। मामले की जांच की जा रही है। अभी कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। – सुरेंद्र कुमार, एसएचओ, टोहाना शहर थाना।



Source link

हमें खबर को बेहतर बनाने में सहायता करें

खबर में कोई नई नॉलेज मिली?
क्या आप इसको शेयर करना चाहेंगे?
जानकारी, भाषा, हेडिंग अच्छी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
33,678,786
Recovered
0
Deaths
447,194
Last updated: 3 minutes ago

Vistors

6772
Total Visit : 6772