en English
en English

Who Asked For More Data From Bharat Biotech For Its Covid19 Vaccine Covaxin, Eua For The Vaccine Will Be Delayed By Few More Days – भारत बायोटेक को झटका: डब्ल्यूएचओ ने मांगा और डाटा, कहा- अभी मंजूरी देने में कुछ और दिनों की देरी


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: संजीव कुमार झा
Updated Tue, 28 Sep 2021 12:45 PM IST

सार

डब्ल्यूएचओ ने भारत बायोटेक से और भी डाटा देने को कहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि फिलहाल आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण में कुछ और दिनों की देरी होगी।

ख़बर सुनें

काफी लंबे समय से आपात मंजूरी की मांग करने वाली स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से एक बार फिर झटका लगा है। दरअसल डब्ल्यूएचओ ने भारत बायोटेक से उसकी कोरोना वैक्सीन ‘कोवाक्सिन’ को आपात मंजूरी देने के लिए और भी डाटा उपलब्ध कराने को कहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि फिलहाल आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण में कुछ और दिनों की देरी होगी।

भारत बायोटेक ने दी प्रतिक्रिया
वहीं इस मामले पर अब भारत बायोटेक ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक जिम्मेदार वैक्सीन निर्माता कंपनी के रूप में, हम नियामक अनुमोदन प्रक्रिया और इसकी समय-सीमा पर अटकलें या टिप्पणी करना उचित नहीं समझते हैं। हम जल्द से जल्द ईयूएल प्राप्त करने के लिए डब्ल्यूएचओ के साथ लगन से काम कर रहे हैं। 

भारत सरकार को इस महीने के अंत तक थी उम्मीद
बता दें कि न्यूज एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने पिछले शुक्रवार को कहा था कि मंजूरी के लिए दस्तावेज जमा करने की एक प्रक्रिया है। कोवाक्सिन को डब्ल्यूएचओ की आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी जल्द ही मिल जाएगी। इससे पहले नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप के डॉ वीके पॉल ने भी कहा था कि कोवैक्सिन के लिए डब्ल्यूएचओ की मंजूरी इस महीने के अंत से पहले मिलने की संभावना है।

विस्तार

काफी लंबे समय से आपात मंजूरी की मांग करने वाली स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से एक बार फिर झटका लगा है। दरअसल डब्ल्यूएचओ ने भारत बायोटेक से उसकी कोरोना वैक्सीन ‘कोवाक्सिन’ को आपात मंजूरी देने के लिए और भी डाटा उपलब्ध कराने को कहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि फिलहाल आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण में कुछ और दिनों की देरी होगी।

भारत बायोटेक ने दी प्रतिक्रिया

वहीं इस मामले पर अब भारत बायोटेक ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि एक जिम्मेदार वैक्सीन निर्माता कंपनी के रूप में, हम नियामक अनुमोदन प्रक्रिया और इसकी समय-सीमा पर अटकलें या टिप्पणी करना उचित नहीं समझते हैं। हम जल्द से जल्द ईयूएल प्राप्त करने के लिए डब्ल्यूएचओ के साथ लगन से काम कर रहे हैं। 

भारत सरकार को इस महीने के अंत तक थी उम्मीद

बता दें कि न्यूज एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण पवार ने पिछले शुक्रवार को कहा था कि मंजूरी के लिए दस्तावेज जमा करने की एक प्रक्रिया है। कोवाक्सिन को डब्ल्यूएचओ की आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी जल्द ही मिल जाएगी। इससे पहले नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप के डॉ वीके पॉल ने भी कहा था कि कोवैक्सिन के लिए डब्ल्यूएचओ की मंजूरी इस महीने के अंत से पहले मिलने की संभावना है।



Source link

हमें खबर को बेहतर बनाने में सहायता करें

खबर में कोई नई नॉलेज मिली?
क्या आप इसको शेयर करना चाहेंगे?
जानकारी, भाषा, हेडिंग अच्छी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
34,037,592
Recovered
0
Deaths
451,814
Last updated: 5 minutes ago

Vistors

7708
Total Visit : 7708