en English
en English

Pakistan: The Attackers Entered The Hindu Temple By Breaking The Lock, Vandalized And Stole The Jewelery Of Idols – पाकिस्तान : ताला तोड़कर हिंदू मंदिर में घुसे हमलावर, तोड़फोड़ कर चुराए मूर्तियों के जेवर 


एजेंसी, हैदराबाद (पाकिस्तान)
Published by: Kuldeep Singh
Updated Sun, 31 Oct 2021 12:54 AM IST

सार

डॉन अखबार में छपी खबर के मुताबिक, ताजा मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कोटरी में एक शिव मंदिर का है। अज्ञात लोग यहां देवी-देवताओं के गले में पहने हुए चांदी के तीन हाल और मंदिर की दान पेटी से करीब 25,000 रुपये नकद चुरा ले गए।

ख़बर सुनें

पाकिस्तान में दो माह पूर्व जनमाष्टमी के मौके पर सिंध प्रांत के संघार जिला स्थित श्रीकृष्ण मंदिर में हुई तोड़फोड़ के बाद अब कोटरी कस्बे के पुराने हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ हुई है। अज्ञात लोग यहां देवी-देवताओं के गले में पहने हुए चांदी के तीन हाल और मंदिर की दान पेटी से करीब 25,000 रुपये नकद चुरा ले गए। इन लोगों ने ताला तोड़कर मंदिर में प्रवेश किया था।

पुलिस ने चोरी का मामला बता रिपोर्ट लिखी
डॉन अखबार में छपी खबर के मुताबिक, ताजा मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कोटरी में एक शिव मंदिर का है। यहां शिव की प्रतिमा तोड़ी गई है और हमलावर देवियों के गले से जेवर उतारकर भाग गए। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मंदिर के कार्यवाहक भगवानदास की शिकायत पर धारा 457, 380, 295 और 297 पीपीसी के तहत मामला दर्ज किया है। कार्यवाहक ने कहा, हार का वजन 10 तोला था।

जमशोरो क्षेत्र के एसएसपी जावेद बलोच ने हालांकि इसे चोरी का मामला बताते हुए मंदिर को अपवित्र करने की खबरों का खंडन किया है। इस बीच, सिंध के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ज्ञानचंद इसरानी ने एसएसपी को प्राथमिकी दर्ज करने और दोषियों को न्याय दिलाने के लिए निदेशक बनाया। उन्होंने कहा, इस तरह की घटना ऐसे समय में जब हिंदू समुदाय दिवाली त्योहार मनाने में व्यस्त था। ऐसी घटनाएं रोकनी चाहिए।

स्थानीय हिंदुओं में आक्रोश
इस घटना से सिंध प्रांत के कोटरी स्थित दरिया बैंड क्षेत्र में तनाव व्याप्त है। शिव प्रतिमा से तोड़फोड़ करने को लेकर लोगों में आक्रोश है। लोगों में इस बात को लेकर भी आक्रोश है कि पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की। इस बीच, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने पुलिस से पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांग ली है। यह भी खबर है कि हमलावरों ने मंदिर से सोने की मूर्तियां भी चुराई हैं।

वारदात का मकसद तनाव फैलाना
जमशोरो के एसएसपी जावेद बलोच ने बताया कि मंदिर प्रबंधन को पास के आवासीय इलाके से कुछ लोगों द्वारा मंदिर में लूटपाट करने का शक है। हालांकि उन्होंने प्रतिमाओं के खंडित होने से इनकार किया लेकिन बताया कि दिवाली के ऐन मौके पर क्षेत्र में तनाव फैलाने के मकसद से यह वारदात की गई। पुलिस ने चारों तरफ मंदिरों की सुरक्षा बढ़ा दी है ताकि वारदातों को पहले से रोका जा सके।

विस्तार

पाकिस्तान में दो माह पूर्व जनमाष्टमी के मौके पर सिंध प्रांत के संघार जिला स्थित श्रीकृष्ण मंदिर में हुई तोड़फोड़ के बाद अब कोटरी कस्बे के पुराने हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ हुई है। अज्ञात लोग यहां देवी-देवताओं के गले में पहने हुए चांदी के तीन हाल और मंदिर की दान पेटी से करीब 25,000 रुपये नकद चुरा ले गए। इन लोगों ने ताला तोड़कर मंदिर में प्रवेश किया था।

पुलिस ने चोरी का मामला बता रिपोर्ट लिखी

डॉन अखबार में छपी खबर के मुताबिक, ताजा मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कोटरी में एक शिव मंदिर का है। यहां शिव की प्रतिमा तोड़ी गई है और हमलावर देवियों के गले से जेवर उतारकर भाग गए। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मंदिर के कार्यवाहक भगवानदास की शिकायत पर धारा 457, 380, 295 और 297 पीपीसी के तहत मामला दर्ज किया है। कार्यवाहक ने कहा, हार का वजन 10 तोला था।

जमशोरो क्षेत्र के एसएसपी जावेद बलोच ने हालांकि इसे चोरी का मामला बताते हुए मंदिर को अपवित्र करने की खबरों का खंडन किया है। इस बीच, सिंध के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ज्ञानचंद इसरानी ने एसएसपी को प्राथमिकी दर्ज करने और दोषियों को न्याय दिलाने के लिए निदेशक बनाया। उन्होंने कहा, इस तरह की घटना ऐसे समय में जब हिंदू समुदाय दिवाली त्योहार मनाने में व्यस्त था। ऐसी घटनाएं रोकनी चाहिए।

स्थानीय हिंदुओं में आक्रोश

इस घटना से सिंध प्रांत के कोटरी स्थित दरिया बैंड क्षेत्र में तनाव व्याप्त है। शिव प्रतिमा से तोड़फोड़ करने को लेकर लोगों में आक्रोश है। लोगों में इस बात को लेकर भी आक्रोश है कि पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया लेकिन अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की। इस बीच, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने पुलिस से पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मांग ली है। यह भी खबर है कि हमलावरों ने मंदिर से सोने की मूर्तियां भी चुराई हैं।

वारदात का मकसद तनाव फैलाना

जमशोरो के एसएसपी जावेद बलोच ने बताया कि मंदिर प्रबंधन को पास के आवासीय इलाके से कुछ लोगों द्वारा मंदिर में लूटपाट करने का शक है। हालांकि उन्होंने प्रतिमाओं के खंडित होने से इनकार किया लेकिन बताया कि दिवाली के ऐन मौके पर क्षेत्र में तनाव फैलाने के मकसद से यह वारदात की गई। पुलिस ने चारों तरफ मंदिरों की सुरक्षा बढ़ा दी है ताकि वारदातों को पहले से रोका जा सके।



Source link

हमें खबर को बेहतर बनाने में सहायता करें

खबर में कोई नई नॉलेज मिली?
क्या आप इसको शेयर करना चाहेंगे?
जानकारी, भाषा, हेडिंग अच्छी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
34,648,383
Recovered
0
Deaths
473,757
Last updated: 4 minutes ago

Vistors

10941
Total Visit : 10941